केन्द्रीय विद्यालय नं 2 एएफएस गुवालीर

विद्यालय के सीएमपी पहल (कक्षा 4)

S.No

पहल

कक्षा और विषय

सीखना उद्देश्य शुरू में परिकल्पित

सीखना उद्देश्य का आकलन किया या नहीं

पद के साथ प्रभारी शिक्षक का नाम

1

सामुदायिक भोजन

चतुर्थ

1. भोजन को साझा करना

2 एक साथ काम करने के लिए भावना को विकसित करने के लिए

हाँ..

प्राथमिक अनुभाग के सभी शिक्षक

2

रंगोली प्रतियोगिता

4 TH से 5 TH

1. रचनात्मकता को विकसित करने के लिए

टीम में काम जानने के लिए

हाँ

,

श्री महेश

3

छात्र की रचनात्मकता

चतुर्थ विभिन्न विषयों पर आरेखण और मॉडल के निर्माण

अलग आइटम

अपने विषयों से संबंधित

निर्माण और कल्पना में प्रतिभा को बाहर लाने के लिए 1.

हाँ

श्रीमती एसआरा, श्रीमती उमा गुप्ता

4

कार्य पत्रक

चौथाईएनएनजी हिंदी, गणित, ईवीएस

1. पाठ की समीक्षा करने के लिए 2. बातें का विश्लेषण करने में सक्षम हो

हाँ

Mrs.S.AryaMr.VSSikarwar

5

कंप्यूटर साक्षरता

III-V TAL

नए ज्ञान के साथ बच्चों को अद्यतन करने के लिए

हाँ

श्रीमती एस आर्य, सुश्री एलीन

6

लाइब्रेरी

1 से 5 तक

पढ़ने की आदत को विकसित करने के लिए

हाँ

सभी प्राथमिक कक्षाओं के कक्षा शिक्षक

               

केन्द्रीय विद्यालय नं 2 एएफएस गुवालीर

विद्यालय के सीएमपी पहल (कक्षा 4)

S.No

पहल

कक्षा और विषय

सीखना उद्देश्य शुरू में परिकल्पित

सीखना उद्देश्य का आकलन किया या नहीं

पद के साथ प्रभारी शिक्षक का नाम

1

फिल्म शो

चतुर्थ हिंदी अभियांत्रिकी

गणित Evs

1.Entertainment 2. भावना का प्रदर्शन 3. नैतिक शिक्षा

जारी रहेगा..

सुश्री अनुपमा शर्मा

2

संचार कौशल

तृतीय-वी हिंदी ईएनजी

1. ध्यान से ध्यान रखें 2.निर्धारण 3. बोलने में सुधार करने के लिए

हाँ

श्रीमती भावना श्री बीएस तोमर ,,

श्रीमती रेखा गुप्ता

3

फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता

चतुर्थ

1. कल्पना शक्ति को विकसित करने के लिए

चीजों के महत्व को समझने के लिए

हाँ

श्रीमती एसआरा, श्रीमती उमा गुप्ता

श्रीमती एन। वर्मा

4

बागवानी

चतुर्थ

1. पौधों और पेड़ों की देखभाल की भावना विकसित करने के लिए

हाँ

श्री महेश श्रीमती एसएसआरा श्री वी.सिसकरवार

5

बाल दिवस

चतुर्थ

नेहरू जी और बच्चों के दिन के बारे में जानकारी देने के लिए

हाँ

श्रीमती संध्या आयु आर्य

सुश्री एलीन

 

लाइब्रेरी में पुस्तकों का प्रदर्शनी

चतुर्थ

उन्हें आकर्षक किताबें दिखाकर पढ़ने की आदत विकसित करना

हाँ

श्री बीएस बगेल

श्रीमती कल्पना